पेंशनभोगी ध्यान दें‚ नहीं तो बंद हो जायेगी पेंशन, केंद्रीय पेन्शन लेखा कार्यालय (CPAO) ने जारी किया अलर्ट!

केंद्रीय पेंशन लेखा कार्यालय (CPAO) ने एक पत्र के माध्यम से निर्देश जारी किये हैं‚ जिसके द्वारा पेंशनरों को सतर्क एवं सावाधान किया गया है। CPAO ने कहा है कि हमारे संज्ञान में आया है कि कुछ अपराधी प्रवृत्ति के लोग‚ सेंट्रल पेंशन अकाउंटिंग ऑफिस (CPAO), भीकाजी कामा प्लेस, नई दिल्ली के अधिकारी बन पेंशनरों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं।

लोग‚ पेंशनभोगियों से CPAO के अधिकारी के रुप में संपर्क कर रहे हैं। साथ ही यह लोग आपके Whatsapp, ई–मेल और SMS के माध्यम से पेंशनभोगियों को फॉर्म भेज रहे हैं और कह रहे हैं कि यदि आप द्वारा यह फॉर्म नहीं भरा गया तो अगले महीने से पेंशन भुगतान रोक दिया जाएगा।

केंद्रीय पेंशन लेखा कार्यालय ने पेंशनरों के लिए सतर्कता संदेश

केंद्रीय पेंशन लेखा कार्यालय (CPAO) ने अपने पत्र के माध्यम से पेंशनभोगियों से आग्रह किया है कि वे इस प्रकार से किसी भी धोखाधड़ी के शिकार ना हो, हम सभी पेंशनरों से आग्रह करते हैं कि वे सतर्क रहें और इन धोखाधड़ी की घटनाओं का शिकार न बनें। किसी भी अज्ञात स्त्रोत से प्राप्त हाेने वाले निर्देशों एवं फार्मों को न भरें।

पेंशन में होगी भारी बढ़ोतरी आदेश जारी: पेंशनभोगियों के लिए खुशखबरी

व्यक्तिगत जानकारी साझा न करने का भी अनुरोध

केंद्रीय पेन्शन लेखा कार्यालय (CPAO) ने सभी पेंशनभोगियों से अनुरोध किया है कि आप किसी के साथ अपनी व्यक्तिगत जानकारी, जैसे कि PPO नंबर, जन्मतिथि, और बैंक खाते जैसे विवरण साझा न करें। उन्होंने अपने पत्र में आगे बताया है कि CPAO, बैंक और अन्य सरकारी एजेंसियां कभी भी पेंशनभोगिेयो से इस प्रकार की जानकारी नहीं मांगती हैं। यदि आपको ऐसा कोई अनुरोध प्राप्त होता है, तो इसे तुरंत नजरअंदाज करें और संबंधित अधिकारियों को सूचित करें।

जागरूक रहें और सुरक्षित रहें

केंद्रीय पेंशन लेकर कार्यालय ने कहां है किे पेंशनभोगी अपनी व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा के लिए सतर्क रहें और किसी भी संदेहजनक गतिविधि की सूचना तुरंत अधिकारियों को दें। आपकी सावधानी और सतर्कता ही आपके व्यक्तिगत और वित्तीय जानकारी की सुरक्षा कर सकती है।

फर्जीवाड़े की पहचान कैसे करें

  1. अज्ञात स्त्रोत से संपर्क : यदि आपको Whatsapp, ईमेल और SMS के माध्यम से अनपेक्षित संपर्क किया जाता है, तो सतर्क रहें। अपराधी आपको व्हाट्सएप पर ईमेल या एसएमएस के द्वारा लिंक भेजेंगे लेकिन आप बिना जांच पड़ताल किए उस लिंक को क्लिक नहीं करना है।
  2. व्यक्तिगत जानकारी की मांग: CPAO ने कहा है कि हम पेंशनभोगीयो से किसी भी प्रकार की जानकारी फोन पर नहीं मानते हैं, कोई भी वैध संगठन आपसे व्यक्तिगत जानकारी साझा करने का अनुरोध नहीं करेगा।
  3. दबाव या धमकी देना: यदि कोई आपसे इस तरह आपके मोबाइल पर लिंक भेज कर तुरंत फॉर्म भरने के लिए कहता है या तुरंत कार्रवाई करने या भुगतान रोकने की धमकी देता है, तो यह धोखाधड़ी हो सकती है।

शासनादेश जारी: यूपी में अब 30 जून और 31 दिसंबर को रिटायर होने वाले कर्मचारियों को वेतन वृद्धि का मिलेगा लाभ

धोखाधड़ी हाेने पर क्या करें?

  1. रिपोर्ट करें: अगर आप इस तरह से किसी भी धोखाधड़ी के शिकार हो जाते हैं तो ऐसे में आप संबंधित अधिकारियों को तुरंत रिपोर्ट करें।
  2. संपर्क करें: इसके साथ ही साथ आप अपने बैंक या CPAO कार्यालय से सीधे संपर्क करें।

मदद और सलाह के लिए संपर्क करें

यदि आपको किसी प्रकार की शंका हो, तो आप अपने संबंधित बैंक या CPAO कार्यालय से सीधे संपर्क कर सकते हैं। CPAO के वास्तविक संपर्क विवरणों की पुष्टि करें और किसी भी संदिग्ध संपर्क से बचें।

पेंशनरों के लिए सुरक्षा टिप्स

  1. अपने दस्तावेज़ सुरक्षित रखें: अपनी पेंशन से संबंधित सभी दस्तावेज़ और जानकारी को सुरक्षित रखें।
  2. सुरक्षित पासवर्ड उपयोग करें: अपने बैंक खातों और अन्य महत्वपूर्ण सेवाओं के लिए मजबूत पासवर्ड का उपयोग करें।
  3. संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखें: अपने बैंक खातों और पेंशन स्टेटमेंट की नियमित जाँच करें।

5 साल में 5% बढ़ेगी पेंशन‚ 65 की उम्र के बाद मिलेगा अतिरिक्त पेंशन का लाभ – देखिये क्या नियम बना रही है सरकार

जागरूकता फैलाएं

पेंशनरों को इस प्रकार की धोखाधड़ी से बचाने के लिए जागरूकता फैलाना बेहद जरूरी है। अपने परिवार, दोस्तों और अन्य पेंशनरों के साथ इस जानकारी को साझा करें ताकि वे भी सतर्क रह सकें। इस मामले में जितनी जागरूकता पेंशनभोगियों को होगी, उतना ही बचाव इससे हो पाएगा, इसलिए इस मामले को सभी पेंशनभोगीयो के साथ साझा करें।

पेन्शनभोगी अपने अधिकारों को जानें

पेंशनरों को यह समझना चाहिए कि उनके अधिकार क्या हैं और वे किसी भी प्रकार की जानकारी किसी के साथ साझा करने के लिए बाध्य नहीं हैं। CPAO या कोई अन्य सरकारी संस्था आपसे व्यक्तिगत जानकारी मांगने का अधिकार नहीं रखती है जब तक कि वह किसी वैध कारण से न हो।

निष्कर्ष

अनजाने में बहुत सारे पेन्शनभोगी इस तरह से धोखाधड़ी के शिकार हो चुके हैं, उनकी गाढी कमाई एक चुटकी में उनके बैंक से खाली हो गई। धोखाधड़ी की इन घटनाओं से बचने के लिए सतर्क रहें और अपनी जानकारी को सुरक्षित रखें। किसी भी संदेहजनक गतिविधि की तुरंत सूचना दें और सरकारी दिशानिर्देशों का पालन करें। आपकी सुरक्षा और जागरूकता ही इन धोखेबाजों से बचाव का सबसे अच्छा उपाय है।

Leave a Comment

Skip to content