PM-WANI Yojana in hindi

PM-WANI Yojana in hindi इंटरनेट, आज के समय की एक बहुत ही महत्वपूर्ण जरूरत है, यही कारण है की  सरकार अब  देश के नागरिकों के लिए वाईफाई सुविधा प्रदान करेगी। इसके लिए सरकार द्वारा पीएम वाणी योजना शुरू की जा रही है। सभी आवेदक जो ऑनलाइन आवेदन करने के इच्छुक हैं, आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड कर सकते हैं और सभी पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया को ध्यान से पढ़े। आज हम यहाँ आपको अपने इस लेख के माध्यम से, PM-WANI Yojana से जुड़ी  सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे; जैसे कि पीएम वानी योजना क्या है?, इसके लाभ क्या है , इसका उद्देश्य, सुविधाएँ, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो, यदि आप पीएम-वानी योजना से संबंधित जानकारी ढूंढ रहे है तो आपको इस लेख को अंत तक पढ़ना चाहिए।

PM-WANI Yojana

भारत सरकार ने PM-WANI Yojana, (वाई फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस) शुरू करने की घोषणा की है, जिसका उद्देश्य सभी को  मुफ्त और आसान इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान करना होगा। इस योजना को एक ऐसी सेवा के रूप में स्थापित किया जाएगा, जो पूरे भारत को इंटरनेट सेवाओं से जोड़ती है। पीएम-वानी वाई-फाई सेवा कैसे काम करेगी, यह बताते हुए केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि तैनाती के आधार पर सार्वजनिक डेटा कार्यालय (पीडीओ) होंगे। ये पीडीओ कोई भी स्थानीय दुकान, सेवा प्रदाता या छोटे पैमाने पर सार्वजनिक सेवा विभाग हो सकते हैं।  ये पीडीओ किसी भी इंटरनेट सेवा प्रदाता (आईएसपी) द्वारा संचालित इंटरनेट कनेक्टिविटी सेवाएं ले सकते हैं, और नेटवर्क कनेक्टिविटी हॉटस्पॉट स्थापित कर सकते हैं। प्रसाद के अनुसार, कोई भी इच्छुक पार्टी पीडीओ के रूप में स्थापित हो सकती है, और कोई लाइसेंस, कोई पंजीकरण नहीं होगा और पीडीओ के रूप में काम करने से जुड़ी कोई फीस नहीं होगी। दूसरी परत में, सार्वजनिक डेटा एग्रीगेटर (पीडीए) होंगे, इन्हे भी कोई परिचालन शुल्क  नहीं देना होगा। ये पीडीए लेखांकन, प्राधिकरण और पीडीओ के अन्य कार्यात्मक भागों जैसे पहलुओं की देखरेख करेंगे।

pm-wani-public-wifi-scheme
pm-wani-public-wifi-scheme

पीएम फ्री वाईफाई वाणी योजना का कार्यान्वयन

इस वाई फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस के सफल कार्यान्वयन के लिए, पूरे देश में सार्वजनिक डेटा केंद्र खोले जाएंगे। इन सार्वजनिक डेटा केंद्रों को खोलने के लिए आवेदक को कोई लाइसेंस शुल्क या पंजीकरण शुल्क नहीं देना होगा। प्रधानमंत्री जी का कहना है की फ्री वाई-फाई वॉयस प्लान एक ऐतिहासिक योजना साबित होगी। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 9 दिसंबर 2020 को इस योजना को मंजूरी दे दी है। छोटे दुकानदारों को भी इस योजना के माध्यम से वाईफाई सेवा मिलेगी, ताकि उनकी आय बढ़ सके। यह योजना निरंतर इंटरनेट कनेक्टिविटी को सुनिश्चित करती है ।

Highlights of PM-WANI Free Wi-fi Scheme

योजना का परिचय परिचय बिंदु
योजना का नाम PM-WANI Yojana
किसके द्वारा लांच की गई केंद्र सरकार के द्वारा
योजना का उद्देश्य सार्वजनिक स्थानों पर वाई फाई सुविधा उपलब्ध कराना
योजना के लाभार्थी सम्पूर्ण भारत के नागरिक
योजना की आधिकारिक वेबसाइट

वाई फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस (PM-WANI Registration)

यदि आप  इस वाई फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस योजना के तहत सार्वजनिक डेटा कार्यालय  तो आपको इसके लिए किसी लाइसेंस की आवश्यकता नहीं है, परन्तु पीडीओए और प्रदाताओं का पंजीकरण, दूरसंचार विभाग के साथ होना आवश्यक है। आवेदन के 7 दिनों के भीतर पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। मुख्य भूमि और लक्ष्य दीप समूह के बीच पनडुब्बी ऑप्टिकल फाइबर केबल कनेक्टिविटी के प्रावधान की  मंजूरी कैबिनेट द्वारा दे दी गयी है।

फ्री वाईफाई वाणी योजना का उद्देश्य

पीएम वाणी योजना का मुख्य उद्देश्य सभी सार्वजनिक स्थानों पर वाई-फाई सुविधाएं प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से, पूरे देश का प्रत्येक नागरिक अब इंटरनेट से जुड़ सकता है, जिससे उन्हें कई सुविधाएं मिलेंगी।  सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क, सार्वजनिक डेटा कार्यालयों के माध्यम से प्रदान किया जाएगा जिसमें कोई लाइसेंस, शुल्क या पंजीकरण शामिल नहीं होगा। यह सार्वजनिक वाई-फाई का प्रसार न केवल रोजगार पैदा करेगा बल्कि छोटे और मध्यम उद्यमियों के हाथों में डिस्पोजेबल आय को बढ़ाएगा और देश की जीडीपी को बढ़ावा देगा।

इसे भी पढ़ेंः– Insurance kya hota hai ?

PM-WANI Yojana के लाभ तथा विशेषताएं

  • PM-WANI योजना अधिक व्यवसाय करने में आसानी को बढ़ावा देकर व्यापार के अनुकूल वातावरण पेश करेगी।
  • इसका उद्देश्य COVID-19 महामारी के दौरान आवश्यकता के रूप में सामने आए हाई-स्पीड इंटरनेट को उपलब्ध कराना है।
  • हाई-स्पीड इंटरनेट उन क्षेत्रों में सुलभ नहीं है, जिनमें 4 जी मोबाइल कवरेज नहीं है।
  • PM WANI का उद्देश्य सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क सेवा की तैनाती में सहायता करना है।
  • सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क के प्रसार से रोजगार का सृजन होगा।
  • छोटे और मध्यम व्यापारियों के डिस्पोजेबल आय में वृद्धि की उम्मीद है और इससे जीडीपी में वृद्धि भी होगी।
  • सार्वजनिक Wi-Fi Hotspot के उपयोग से पूरे देश में इसकी पैठ को बढ़ावा मिलेगा।
  • ट्राई के अनुसार, विभिन्न अर्थव्यवस्थाओं में, मोबाइल उपयोगकर्ता अपने शुद्ध समय के 50-70% तक संचार करने के लिए वाईफाई तकनीक का उपयोग करते हैं।
  • वाई फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस शुरू करने का सरकार का कदम सराहनीय है और इससे हॉटस्पॉट की संख्या बढ़ने की उम्मीद है।

PDO वाईफाई सेंटर के प्रकार

  • Wi-fi Hotspot Only – यह केवल वाई-फाई की सुविधा प्रदान करेंगे।
  • PDO Center – कंप्यूटर के साथ इंटरनेट की सुविधा प्रदान करेंगे।
Public Data Office (PDO) की स्थापना Public Call Office (PCO) के सिद्धांत पर किए जायेगी। ये PDO उसके ग्राहक तक Broadband सेवाए ले जाने के लिए फक्त वाणी सुसंगत WiFi access point की स्थापना संचालन और देखरेख करेगा। ये PDO खुद इंटरनेट प्रदान करेगा या कोई अन्य इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के पास से लीज पर लेके इंटरनेट सेवा प्रदान करेगा। साथ ही व्यक्तिगत PDO को चलाने के लिए PDO Office की स्थापना करने में आएगी। जो असंख्य PDO को अधिकृत करने और उसका नियंत्रण करने में सक्षम होगा। केंद्र सरकार वाणी यूजर के लिए एक अप्लिकेशन बनाने जा रही है, ये अप्लिकेशन वाणी यूजर को Network Registration की सुविधा और अजोड़ पहेचान पूरी पाड़ेगा।
इस एप्लिकेशन हर रजिस्टर यूजर को यूजर के नजदीकी विस्तार में PM WANI WiFi, Free Hotspot ढूढने में मदद करेंगा। ज्यादा में एक केंद्रीय रजिस्ट्री बनाने में आएगी, वो वाणी एप्लिकेशन प्रदाताओं और PDO की विगत की सुरक्षा करेगा। इस Registry Center for Development of Telematics द्वारा ही नियत्रित करने में आएगी। कोई ग्राहक PDO के आधार से Internet Network Access करना चाहेगा तो वो e-kyc करने के बाद ही इंटरनेट एक्सेस कर पाएगा। ये काम सुरक्षा के दृष्टिकोण से जोड़ने में आई है।

pm-wani-public-wifi-scheme
pm-wani-public-wifi-scheme

2.5 लाख गांवों में बनाए जाएंगे 10 लाख से ज्यादा वाईफाई हॉटस्पॉट

कैबिनेट की बैठक में लिए गए फैसलों के अनुसार पुरे देश में वाई-फाई सेऔर ब्रॉडबैंड की सुविधाओं के प्रसार के साथ-साथ Bahrat Net Optic Fiber Project के विस्तार को भी मंजूरी दी गयी है। अब देश में पब्लिक वाई-फाई के माध्यम से ब्रॉडबैंड का दायरा बढ़ाया जायेगा।

पब्लिक डाटा ऑफिस (PDO) वाईफाई हॉटस्पॉट

अगर आपके पास CSE VLE है तो आपके आस-पास कोई न कोई न टेलीफोन बूथ जरूर होगा, या अपने 1रू डालकर बात किये जाने वाले टेलीफोन बूथ के बारे में आवश्यक सुना होगा। अब समय के बदलते पहिये के साथ यह बूथ कही खो से गए हैं, आज के समय में इंटरनेट ने एक दूसरे से जुड़ने को आसान और कम खर्चीला बना दिया है। इसी को देखते हुए केंद्र सरकार ने PM Wani Scheme Free Internet Wi-fi Yojana की शुरूआत की है। इस योजना के तहत देश में लगभग 10 लाख नए वाई-फाई हॉटस्पॉट बनाये जायेंगे जिनके माध्यम से इंटरनेट कनेक्टिविटी पहुचायी जाएगी।इस योजना के अमल में आने के बाद कोई भी व्यक्ति 02 रूपये से 20 रूपये देकर भरपुर इंटरनेट का मजा ले सकता है।

Read ThisTruth of Life Quotes in Hindi

पीएम वाणी योजना के अंतर्गत आवेदन कैसे करे?

जैसा कि हम आपको बता दें कि अगर आप Pm Wani Yojana के अंतर्गत अपने गांव में इंटरनेट सेवा प्रदान करते हैं। अगर आप इसके वितरक बनना चाहते हैं तो इसका प्रोसेस बड़ा ही आसान है। आपको इसकी सेवा प्रदान करने के लिए किसी भी लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती है इसको लेने के लिए मात्र आपको दूरसंचार विभाग के साथ पंजीकृत होना होगा। जैसे आप का पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण हो जाती हैं आप इस सेवा को आसानी से प्रदान कर पाएंगे। इसकी पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा होने में 7 दिन का समय लगता है|

हम उम्मीद करते हैं की आपको पीएम वाणी योजना फ्री वाई-फाई योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Read ThisDeendayal Antyodaya Yojana In Hindi

Read ThisIndira Gandhi Matritva Sahyog Yojana

वाईफाई चोपाल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन (CSC Wani Yojana Apply)?

इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए अगर आप भी Wi-Fi Hotspot चाहते हैं तो आपको सबसे पहले इसका रजिस्ट्रेशन करना होगा।

  • रजिस्ट्रेशन करने के लिए यहां दी गई सबसे पहले ऑफिशल वेबसाइट पर जाएं।
  • सफलतापूर्वक वेबसाइट खोलने के बाद अपनी सीएससी आईडी पासवर्ड से लॉगिन करें।
  • लॉगइन होने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म आ जाएगा।
  • आवेदन में मांगी गई सभी जानकारी को सही सही भरे।
  • इसके बाद यहां पर अपना ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर डालें।
  • इसके बाद आपको यहां पर इस सेवा को शुरू करने के लिए इसका पेमेंट करना होगा।
  • पेमेंट करने के बाद सफलतापूर्वक आवेदन फॉर्म को सबमिट कर दें।

Pm Wani Yojana Online Form Apply?

  • वाणी योजना रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे पहले यहां दी गई अधिकारिक वेबसाइट खोलें।
  • सफलतापूर्वक वेबसाइट खुल जाने के बाद अपने सीएससी आईडी पासवर्ड से लॉगिन करें।
  • लॉगिन हो जाने के बाद बानी योजना रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को सही सही भरे।
  • जानकारी भरने के बाद अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी डालें।
  • इसके बाद अपना संपूर्ण एड्रेस भरे।
  • आवेदन में संपूर्ण जानकारी भरने के बाद आवेदन को सबमिट कर दें।
  • अब आपका फॉर्म जांच प्रक्रिया में चला जाएगा और जैसे ही संपूर्ण जांच हो जाती है आपको ईमेल या फ़ोन के माध्यम से बता दिया जाएगा।

Pm Wani Yojana और CSC Wi-Fi Choupal में क्या अंतर है?

Pm Wani Yojana और CSC Wi-Fi Choupal आमतौर पर ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को हाई स्पीड इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए ही शुरू की गई थी किस योजना के द्वारा कम से कम समय में लोगों को हाई स्पीड का इंटरनेट प्रदान किया जाएगा। CSC Wi-Fi Choupal स्कीम सीएससी कॉमन सर्विस सेंटर द्वारा शुरू की गई काफी पुरानी सेवा है जिसके द्वारा कुछ चुने हुए गांव में Wi-Fi Hotspot लगाए गए थे।
लेकिन सरकार की Pm Wani Yojana द्वारा ज्यादा से ज्यादा गांव में इसके हॉटस्पॉट स्थापित किए जाएंगे और प्रत्येक गांव में हाई स्पीड इंटरनेट प्रदान किया जाएगा और बताया जा रहा है कि इस योजना के द्वारा गांव के लोगों को मुफ्त में इंटरनेट भी मिल सकेगा।

निष्कर्ष:-

हम उम्मीद करते हैं की आपको PM-WANI Yojana in hindi से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः– महादेव शायरी हिंदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *