Covid 19 Omicron 1st Case India

देश में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन ने दस्तक दे दी है। Covid 19 Omicron 1st Case India हेल्थ मिनिस्ट्री के जॉइंट सेक्रेट्री लव अग्रवाल ने डब्ल्यूएचओ रिपोर्ट के हवाले से बताया कि ओमीक्रोन में 45 से 52 तक ओवरऑल म्यूटेशन नोट की गई हैं। इनमें 26 से 32 म्यूटेशन स्पाइक प्रोटीन से रिलेटेड हैं।

दुनिया के 28 देशों में पहुंचने के बाद कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ओमीक्रोन भारत पहुंच चुका है। देश में ओमीक्रोन के पहले दो रोगी कर्नाटक में मिले हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से इन लोगों में ओमीक्रोन संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। हेल्थ मिनिस्ट्री के जॉइंट सेक्रेट्री लव अग्रवाल अमेरिकी वैज्ञानिकों के रिसर्च मॉडल के हिसाब से बताया कि ओमीक्रोन वेरिएंट से 5 गुना अधिक तेजी से संक्रमण फैल सकता है। साथ ही उनके द्वारा बताया गया है कि पिछले 24 घंटे में देश में ओमिक्रोन के 2 मामले  दर्ज़ किए गए हैं। ये मामले कर्नाटक में मिले हैं। 66 साल के एक व्यक्ति और 46 साल के एक व्यक्ति में ओमीक्रोन का संक्रमण पाया गया है। संयुक्त सचिव अग्रवाल ने कहा कि कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट के अभी तक कोई गंभीर लक्षण रिकॉर्ड नहीं किए गए हैं।

Covid 19 Omicron India
Covid 19 Omicron India

बीटा और डेल्टा वेरिएंट को दे सकता है मात
लव अग्रवाल ने कहा कि इस वायरस का स्पाइक प्रोटीन पिछले डेल्टा वेरिएंट के मुकाबले स्पाइक लेवल पर दोगुना से अधिक म्यूटेशन हैं। उसी मॉडल के आधार पर बताया कि कैसे ये वेरिएंट अपीयर करता है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि ओमीक्रोन वेरिएंट बीटा या डेल्टा वेरिएंट के संक्रमण की रफ्तार को मात दे सकता है।

ओमीक्रोन में 45 से 52 तक म्यूटेशन
अमेरिकी वैज्ञानिकों के एक मॉडल के आधार पर इसके पूर्वानुमान में बताया गया है कि बी.1.1.529 वेरिएंट ओमीक्रोन में बहुत अधिक तेजी से मामले सामने आने शुरू हो रहे हैं। हालांकि, यह एक मॉडल है जिस पर आगे अभी रिसर्च होनी है। लव अग्रवाल ने डब्ल्यूएचओ रिपोर्ट के हवाले से बताया कि ओमीक्रोन में 45 से 52 तक ओवरऑल म्यूटेशन नोट की गई हैं। इनमें 26 से 32 म्यूटेशन स्पाइक प्रोटीन से रिलेटेड हैं। ओमीक्रोन के कुछ वेरिएशन डेल्टा वेरिएंट में भी पाई गई थीं। डब्ल्यूएचओ के अनुसार आरटी-पीसीआर टेस्ट से इसके संक्रमण का पता लगाया जा सकता है।

12-18 गुना अधिक संक्रामक, 30 से अधिक प्रकार
मेदांता के चेयरमैन डॉ. नरेश त्रेहन के अनुसार ओमीक्रोन वायरस के 2 भाग संक्रमण और विषाणु चिंता का विषय हैं। उन्होनें बताया कि ओमीक्रोन का R0 फैक्टर 12-18 गुना या इससे भी अधिक संक्रामक हो सकता है। इसका मतलब है कि यह बहुत खतरनाक तरीके से फैल सकता है। उन्होंने कहा कि अभी, हमारे पास इसकी सटीक डिटेल नहीं है। डॉ. त्रेहन ने कहा कि हम केवल इतना जानते हैं कि हम बहुत मुश्किल स्थिति में हैं क्योंकि यह नया वेरिएंट मिला है। इसमें स्पाइक प्रोटीन पर 30 से अधिक प्रकार हैं और पूरे स्ट्रक्चर में 50 से अधिक प्रकार हैं।

ओमीक्रोन के दुनियाभर के 29 देशों में अभी तक कुल 373 मामले
अब तक दुनियाभर के 29 देशों में कुल 373 मामले रिपोर्ट किए जा चुके हैं। हेल्थ मिनिस्ट्री के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने प्रेसवार्ता में बताया कि विश्व में अभी भी कोविड के मामलों में तेजी देखी जा रही है। 24 नवंबर को ओमीक्रोन वेरिएंट के मामले को WHO को रिपोर्ट किया गया था। दो दिन बाद ही इसे Variant of concern घोषित कर दिया गया। WHO द्वारा यूरोप में अगले कुछ दिनाें में कोविड के चलते 7 लाख मौतों का अनुमान लगाया गया है। पिछले एक हफ्ते में दुनिया में 70% मामले यूरोप से आए हैं। एक हफ्ते में यूरोप में 2.75 लाख कोविड मामले आए। इस दौरान 29,000 से अधिक मौत के मामले दर्ज किए गए।

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *